श्री अटल बिहारी वाजपेयी

श्री अटल बिहारी वाजपेयी Biography, Awards, Death Anmol Vichar in Hindi

श्री अटल बिहारी वाजपेयी – Former Prime Minister of India

भारत रत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी ने 16 अगस्त 2018 को दिल्ली के AIIMS हॉस्पिटल में शाम 05:05 PM बजे अंतिम सांस ली | भगवान् उनकी आत्मा को शान्ति प्रदान करें | अटल जी के निधन पर पुरे देश में 7 दिन का राष्ट्रिय शोक घोषित किया गया | एक पूर्व प्रधानमंत्री होने के साथ-साथ वे एक बहुत ही प्रभावशाली व्यक्ति, कवी, और संघ प्रवक्ता भी थे |

पंडित जवाहरलाल नेहरू जी के बाद वे सबसे ज्यादा बार भारत के प्रधानमंत्री बनने वाले राजनेता थे, वे तीन बार भारत के प्रधानमंत्री रह चुके है |

श्री अटल जी पहली बार 1996 में 13 दिन के लिए भारत के प्रधानमंत्री बने | दूसरी बार 1998-1999 में 13 महीने के लिए प्रधानमंत्री बने और तीसरी बार 1999 से 2004 तक पूर्ण अवधि के लिए प्रधानमंत्री बने |

वाजपेयी जी पहले भारतीय प्रधानमंत्री थे जो भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के सदस्य नहीं थे, जिन्होंने पूर्ण पांच वर्ष का कार्यकाल पूरा किया था | अटल जी को 2015 में भारत के राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी द्वारा भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान, भारत रत्न से नवाजा गया था |

25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर में अटल जी का जन्म श्री मति कृष्णा जी और श्री कृष्णा बिहारी वाजपेयी जी के यहाँ हुआ था | उनके पिता गाँव के ही स्कूल में पढ़ाते थे और इसके साथ साथ एक महान कवि भी थे | अटल जी देश की आजादी से पहले से ही बहुत सी राजनितिक सभाओं में भाग लिया करते थे | वे भारत देश की आजादी के लिए भारत छोड़ो आंदोलन में गांधी जी के साथ सक्रिय रहे थे, और कई बार आजादी के लिए जेल भी गए | आजादी के बाद वर्ष 1951 में अटल जी भारतीय जनसंघ में शामिल हुए थे |



अटल जी को वर्ष 2009 में स्ट्रोक का सामना करना पड़ा जो की उनके भाषण को प्रभावित करता था |

Awards: –

1992 – पद्मा विभूषण

1993 – डॉक्टर ऑफ़ लेटर्स फ्रॉम कानपूर यूनिवर्सिटी

1994 – लोकमान्य तिलक अवार्ड

1994 – आउटस्टैंडिंग पार्लिअमेंटरीअन अवार्ड

1994 – भारत रत्न पंडित गोविन्द वल्लभ पंत अवार्ड

2015 – भारत रत्न

2015 – बांग्लादेश लिबरेशन वॉर ऑनर (बांग्लादेश मुक्तिजुद्दो सन्मानोना)

Atal Bihari Vajpayee जी  का भारतीय जनता पार्टी के सदस्यों के अलावा दूसरी विपक्षी पार्टियों के सदस्य भी सम्मान करते थे | और देश कि जनता भी उनका बेहद सम्मान करती हैं |

स्वर्गीय Shri Atal Bihari Vajpayee जी के कुछ अनमोल विचार

  • छोटे मन से कोई बड़ा नहीं होता,

         टूटे मन से कोई खड़ा नहीं होता |

  •  क्या हार में क्या जीत में,

          किंचित नहीं भयभीत मैं,

          कर्तव्य पथ पर जो भी मिला,

          यह भी सही वो भी सही,

         वरदान नहीं मांगूंगा,

          हो कुछ पर हार नहीं मानूंगा |

  •  बाधाएं आती हैं आएं

          घिरे प्रलय की घोर घटाएं

         पांवो के निचे अंगारे

         सिर पर बरसें यदि ज्वालायें

         निज हाथो में हॅसते-हँसते

         आग जलाकर जलना होगा

         कदम मिलकर चलना होगा




  • देश एक मंदिर हैं हम पुजारी

         हैं, राष्ट्रदेव की पूजा में हमें,

         खुद को समर्पित कर देना चाहिए

  • मौत की उम्र क्या दो पल भी नहीं,

         ज़िन्दगी-सिलसिला, आज कल की नहीं,

         मैं जी भर जिया, मैं मन से मरुँ

         लौटकर आऊंगा, कूच से क्यों डरूं |

         तू दबे पाँव, चोरी छिपे से न आ,

         सामने वार कर, फिर मुझे आजमा,

         मौत से बेखबर, ज़िन्दगी का सफर,

         शाम हर सुरमई, रात बंसी कर स्वर |

Gossip Junction श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी को श्रद्धांजलि अर्पित करता हैं | वे हमेशा हमारे दिलों में ज़िंदा रहेंगे | शत शत नमन |

Author: Hitesh Kumar

मेरा नाम हितेश कुमार है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमे आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational stories, हिंदी कवितायेँ, मनोरंजक न्यूज़,स्टूडेंट्स के लिए study और जॉब related पोस्ट etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

Leave a Reply

%d bloggers like this: